मरने से पहले भागता रहा दुर्दांत अपराधी विकास दुबे, यूपी पुलिस के साथ खेल रहा था लुका-छिपी

शूटआउट वाली रात 5 किमी तक साईकिल चला कर भागा था विकास दुबे, यहाँ से ली थी मोटर बाइक

विकास दुबे को लेकर खबर है कि वो दो दिन कानपुर में ही रहा था इसके बाद 5किमी साइकिल और फिर बाइक से भाग गया था।

कानपुर: विकास दुबे 2 जुलाई की रात मारे गए 8 पुलिस कर्मियों का मुख्य अपराधी था। उसे उत्तर प्रदेश पुलिस ने उसे एनकाउंटर में मार गिराया है। लेकिन इतना बड़ा अपराध करने वाला अपराधी 7 दिन तक पुलिस से लुका छिपी करता रहा। इस मामले में खुलासा हुआ है कि विकास दुबे दो दिन तक कानपुर में ही रहा था। इस मामले अब बड़ा खुलासा हुआ है कि कानपुर से कैसे भागा।

साइकिल से भागा विकास

विकास दुबे के भागने को लेकर खुलासे हो रहे हैं इसी बीच बड़ी बात सामने आई है कि विकास करीब 5 किमी दूर तक साइिकल चलाते हुए व‍ह कानपुर के ही शिवली कस्बे तक गया था। वहां जाकर उसने किसी की बाइक ली थी और उससे यूपी पुलिस की पकड़ से बाहर निकल गया था।

पुलिस की मोबाइल सर्विलांस (Mobile Surveillance) जांच में यह भी खुलासा हुआ थ कि शिवली कस्बे में पहुंचकर 8 पुलिसवालों की हत्या के आरोपी विकास ने अपना मोबाइल बंद किया था।

पत्नी भी थी फरार

खबरों के मुताबिक‌ उस बाइक से ही विकास लखनऊ (Lucknow) की ओर भागा था। उसी वक्त विकास की पत्नी लखनऊ वाले घर से फरार हुई थी। उसकी आखिरी लोकेशन चंदौली में मिली है। उसके साथ उसका बेटा भी बताया जा रहा था। ये सभी तब से फरार थे।

भागता रहा विकास दुबे

आपकोबता दे कि हिस्ट्रीशीटर और मुख्य आरोपी विकास दुबे यूपी एसटीएफ के हाथ आने से पहले ही निकल गया। कानपुर हत्याकांड को अंजाम देने के बाद से भागा-भागा फिर रहा था। विकास हरियाणा के फरीदाबाद में एक होटल में कमरा लेने गया जहां आईडी नहीं होने की वजह से उसे कमरा नहीं मिला. यह जानकारी मिलते ही एसटीएफ की टीम होटल पहुंची लेकिन विकास को खबर लग गई थी और वो वहां से भी भाग निकला था।

 

 

 

ये भी पढ़े:

विकास दुबे एनकाउंटर मामलें में घिरी योगी सरकार, IPS अफसर ने कहा |

शहीद पुलिसकर्मी के पिता ने कहा- “योगी जी की आँखों में क्रोध और सीने में धधकती ज्वाला  |

विकास दुबे का एनकाउंटर हुआ और लखनऊ पुलिस ने उसकी पत्नी और बच्चे के साथ किया ये काम |

अंतिम संस्कार के समय फूट-फूटकर रोया विकास दुबे का 12 साल का बेटा |

पोस्टमार्टम के बाद माता-पिता ने शव लेने से किया इंकार |

थप्पड़ पड़ने पर चिल्लाया था विकास दुबे, कानपुर में होता तो |