देश को दहला देने वाले कानपुर एनकाउंटर में अब तक मारे गए पांच

पुलिस एनकाउंटर में विकास दुबे के 5 गुर्गे उतरे मौत की घाट, जाने पूरा घटनाक्रम

देश को दहला देने वाले कानपुर चौबेपुर के बिकरू कांड में अब तक पांच अपराधियों को मुठभेड़ में पुलिस और एसटीएफ की टीम ने मार गिरारा है। इसके अलावा तत्कालीन थाना प्रभारी और दारोगा समेत 10 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। विकास पर कुल 71 मुकदमें दर्ज हैं। जिसमें, हत्या, डकैती, लूट, जानलेवा हमले समेत अन्य गंभीर धाराएं हैं।

विकास के सभी नजदीकियों का पुलिस ने किया एनकाउंटर

बिकरू गांव में दो जुलाई को सीओ-एसओ समेत आठ पुलिसकर्मी बलिदान हुए। तीन जुलाई को कानपुर के आइजी मोहित अग्रवाल व एसएसपी दिनेश कुमार पी की अगुआई में पुलिस ने विकास दुबे के मामा प्रेम प्रकाश पांडेय और चचेरे भाई अतुल दुबे को मुठभेड़ में मार गिराया।

घर गिरा बरामद किये गये हथियार

विकास के दो बीघा जमीन पर बने अभेद्य किलानुमा घर व नीचे बने बंकर को चार जुलाई को ढहाकर हथियार, बम और गोला-बारूद बरामद किए गए। आठ जुलाई को निलंबित चौबेपुर एसओ विनय कुमार तिवारी व हलका इंचार्ज केके शर्मा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया।

एसटीएफ व हमीरपुर पुलिस के संयुक्त ऑपरेशन में विकास का दाहिना हाथ 50 हजार का इनामी भतीजा अमर दुबे मौदहा में मुठभेड़ में ढेर। कानपुर एनकाउंटर में 50-50 हजार के इनामी श्यामू बाजपेई, जहान यादव कानपुर में दबोचे गए।

 

 

 

ये भी पढ़े:

क्या विकास दुबे की गिरफ्तारी का है लॉकडाउन से कनेक्शन |

रात 10 बजे से 13 जुलाई सुबह तक उत्तर प्रदेश में फिर से लॉकडाउन |

उत्तर प्रदेश सरकार ने घोषित किया संपूर्ण लॉकडाउन |

विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद माँ ने पुलिस और सरकार से की ये अपील |

हिस्ट्रीशीटर का पहले किया जायेगा कोरोना टेस्ट फिर पोस्टमार्टम |