कानपुर एनकाउंटर: शूटर बोला दबिश से पहले विकास के पास थाने से आया था फोन

कानपुर एनकाउंटर: विकास का साथी शूटर गिरफ्तार, बोला पुलिस दबिश से पहले विकास के पास थाने से आया था फोन

उत्तरप्रदेश कानपुर के कल्याणपुर से शिवली को जाने वाली जवाहरपुरम रोड से पुलिस ने रविवार तड़के कुख्यात अपराधी विकास दुबे के साथी दयाशंकर अग्निहोत्री को मुठभेड़ में गिरफ्तार कर लिया। दयाशंकर ने बताया कि पुलिस की दबिश से पहले विकास के पास थाने से फोन आया था। मुठभेड़ में पैर में गोली लगने से दयाशंकर घायल हो गया। एसएसपी कानपुर दिनेश कुमार पी. ने बताया कि दयाशंकर ने पुलिस की पूछताछ में कई अहम जानकारी दी। दयाशंकर से अभी पूछताछ जारी है।

पुलिस के मुताबिक दयाशंकर भी बिकरू गांव का ही रहने वाला है। उसके ऊपर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित था। तड़के दयाशंकर जवाहरुरम रोड पर जा रहा था। गश्त के दौरान पुलिस ने उसे रोकने का प्रयास किया तो वह भागने लगा। इस पर पुलिस टीम ने पीछा किया तो उसने फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्यवाई में पुलिस ने भी फायरिंग की तो उसे पैर में गोली लग गई।

पुलिस पास पहुंची तो उसकी शिनाख्त दयाशंकर अग्निहोत्री के रूप में हुई। पुलिस ने आरोपित को अस्पताल में भर्ती कराया। दयाशंकर ने पूछताछ के दौरान पुलिस को बताया कि घटना के समय विकास घर पर मौजूद था। वह उसकी बंदूक से पुलिस पर फायरिंग कर रहा था। पुलिस की दबिश से पहले विकास के पास थाने से फोन आया था। उसे जैसे ही दबिश की जानकारी हुई। उसने बहुत सारे शूटर बुलवा लिए थे। सबके पास अवैध असलहे थे। सभी दनादन फायरिंग कर रहे थे।

पुलिस ने दयशंकर के पास से एक अवैध तमंचा, दो खोखा और दो जिंदा करतूस बरामद किए हैं।

 

 

 

ये भी पढ़े:

विकास दुबे का साथ देने वाले नेताओं पर होगी सख्त कार्यवाही | 
थाने से फोन आते ही आग बबूला हो गया था हत्यारा विकास | कानून मंत्री ब्रजेश पाठक के साथ 
अपराधी विकास दुबे की वायरल हो रही तस्वीर |  प्रशासन ने अपराधी का गिरा दिया "किला", एसओ सस्पेंड |
पुलिस के जान की दुश्मन कांड से 24 घंटे पहले हुई दरोगा की विकास दुबे से बात | विकास दुबे ने रचा था पुलिस
 के लिए चक्रव्यूह | पुलिस ने विकास दुबे के मामा और भाई को मार गिराया