पुलिस ने विकास दुबे के मामा और भाई को मार गिराया

पुलिस ने विकास दुबे के मामा और भाई को मार गिराया, विकास पर 1 लाख तो साथियों पर 25 हजार का ईनाम

कानपुर एनकाउंटर मामले मे चल रही छानबीन के बाद विकास के आत्मसमर्पण की आई सूचना, उन्नाव जिले का न्यायालय छावनी में हुआ तब्दील, तो दूसरी ओर लखनऊ स्थित विकास के भाई के घर को भी गिराने की तैयारी पुलिस-प्रशासन द्वारा की जा रही है। शनिवार को पुलिस ने चौबेपुर क्षेत्र के गांव में स्थित विकास के घर को ढहा दिया और उसकी गाड़ी भी जेसीबी से तोड़ दी।
अपराधी के गढ़ में दबिश देने गई पुलिस पर जानलेवा हमला कर आठ पुलिसकर्मियों को मौत के घाट उतार कर पूरे देश में सनसनी फैलाने वाले कुख्यात अपराधी विकास दुबे के आत्मसमर्पण की सूचना इतने जोर से फैली कि उन्नाव न्यायालय में पुलिस पूरे दिन अलर्ट रहा. सुबह से ही न्यायालय परिसर छावनी में तब्दील हो गया। एएसपी उत्तरी, सीओ सिटी सदर कोतवाली पुलिस बल के अलावा स्वाट, सर्विलांस व एलआईयू टीम ने चप्पे-चप्पे पर नजर रखी।
कानपुर की स्वाट टीम भी न्यायालय के आसपास संदिग्ध वाहनों पर नजर गड़ाए रही। हालांकि शाम 4 बजे के बाद पुलिस लौट गई। इस पर पुलिस-प्रशासन ने फरार अपराधी विकास दुबे के बारे में सूचना देने वाले की इनाम की राशि 50 हजार से एक लाख कर दी है। वहीं, उसके फरार 18 साथियों पर 25-25 हजार रुपये घोषित किया है। यह घोषणा एसएसपी कानपुर ने शनिवार देर रात की।।

भाई के घर मिली सरकारी गाड़ी….

अपराधी विकास दुबे को पकड़ने के लिए शासन के निर्देश पर पुलिस व अन्य एजेंसिया चप्पा-चप्पा खंगाल रही हैं। लखनऊ स्थित उसके भाई दीप के घर ज़ब छापा मारा तो अंबेसडर कार देख कर पुलिस के होश उड़ गए. प्रमुख सचिव के नाम पर रजिस्टर्ड सरकारी नंबर की अंबेसडर कार के मिलने से मामले पर कई सवाल खड़े हो रहे हैं.

बिना रजिस्ट्रेशन सरकारी गाड़ी का प्रयोग कर रहा था विकास दुबे?

एक महीने के अंदर कार का रजिस्ट्रेशन करवाना होता है, लेकिन रजिस्ट्रेशन नहीं मिला. ऐसे मे सवाल ये उठता है कि कहीं ये गाड़ी आपराधिक मामलो मे तो नहीं इस्तेमाल हो रही थी. जानकार ये भी कयास लगा रहे है कि बॉर्डर इलाके से भागने में सरकारी गाड़ी का कहीं इस्तेमाल तो नही हुआ?

शहर से एक रिश्तेदार को उठाने की चर्चा….

शनिवार सुबह से ही इस बात की जोराें पर चर्चा रही कि अपराधी विकास दुबे का कोई रिश्तेदार शहर के मोहल्ला पीडी नगर में रहता है। शुक्रवार रात एसटीएफ कानपुर व लखनऊ ने पीडीनगर स्थित घर में छापा मारकर उसके रिश्तेदार को उठाया है। शनिवार को उसके घर में ताला लगा रहा। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो सकी है। तो वहीँ पुलिस ने विकास के मामा और चचेरे भाई को मार दिया है.
HindNow Trending : विकास दुबे का साथ देने वाले नेताओं पर होगी सख्त कार्यवाही | 
थाने से फोन आते ही आग बबूला हो गया था हत्यारा विकास | कानून मंत्री ब्रजेश पाठक के साथ
 अपराधी विकास दुबे की वायरल हो रही तस्वीर | प्रशासन ने अपराधी का गिरा दिया "किला", एसओ सस्पेंड |
पुलिस के जान की दुश्मन कांड से 24 घंटे पहले हुई दरोगा की विकास दुबे से बात | विकास दुबे का साथी शूटर गिरफ्तार |
 विकास दुबे ने रचा था पुलिस के लिए चक्रव्यूह |