कांड के 24घंटे पहले हुई थी एक दरोगा से अपराधी की लम्बीबातचीत 

कानपुर एनकाउंटर: पुलिस ही निकली पुलिस के जान की दुश्मन कांड से 24 घंटे पहले हुई दरोगा की विकास दुबे से बात 

कानपुर एनकाउंटर मामले में जैसे-जैसे छानबीन आगे बढ़ रही है. एसटीएफ को सुराग हाथ लग रहे हैं. विकास दुबे की कॉल डिटेल भी खगंली जा रही है. उस की कॉल डिटेल से मालूम चला है की घटना के 24 घंटे पहले ही उसकी किसी दरोगा से बातचीत भी हुई थी. फिलहाल एसटीएफ संबंधित दरोगा से पूछताछ में जुटी है.
गौरतलब है कि 3 जुलाई को उत्तर प्रदेश के कानपुर में पुलिस और बदमाशों की मुठभेड़ में आठ जवानों को अपनी जान गंवानी पड़ी। घटना की जांच यूपी एसटीएफ कर रही है। एसटीएफ सहित पचास से अधिक टीमें कुख्यात अपराधी विकास दुबे और उसके साथियों की तलाश में जुटी हैं। छानबीन मे विकास के फोन से मिली काल डिटेल ने सबको चौंका दिया है।
विकास के फोन में कुछ पुलिस वालों के नंबर भी मिले हैं। एसटीएफ इन सभी पुलिस वालों से पूछताछ कर रही है जिनके नंबर विकास के फोन में प्राप्त हुए हैं। घटना से 24 घंटे पहले भी विकास की एक दरोगा से बात हुई थी। जिसके बाद यह शक गहराने लगा है कि विकास को पुलिस के आने की खबर कैसे लग गई।
पुलिस टीम में ही विकास का कोई खबरी था जो हर पल की जानकारी विकास तक पहुंचा रहा था। विकास को पकड़ने के लिए पूरे प्रदेश में छापेमारी चल रही है। पुलिस विकास दुबे के करीबियों पर शिकंजा कस रही है।
विकास का कारोबार आसपास के प्रदेशों में भी फैला हुआ है। विकास को पकड़ने के लिए यूपी पुलिस अन्य राज्यों की भी मदद ले रही है। सीएम योगी ने डीजीपी से पहले ही कह दिया है कि जबतक ऑपरेशन विकास दुबे खत्म नहीं हो जाता लखनऊ आने की जरूरत नहीं है। ऐसे में पुलिस हर उस जगह पर विकास की तलाश कर रही है, जहां विकास का आना जाना था।

ये भी पढ़े: 

विकास दुबे का साथ देने वाले नेताओं पर होगी सख्त कार्यवाही |
थाने से फोन आते ही आग बबूला हो गया था हत्यारा विकास | कानून मंत्री ब्रजेश पाठक के साथ 
अपराधी विकास दुबे की वायरल हो रही तस्वीर | प्रशासन ने अपराधी का गिरा दिया "किला", एसओ सस्पेंड |
विकास दुबे का साथी शूटर गिरफ्तार |  विकास दुबे ने रचा था पुलिस के लिए चक्रव्यूह | पुलिस ने विकास दुबे के मामा
 और भाई को मार गिराया