अब खुलेंगे विकास दुबे के अहम राज धरा गया विभीषण

विकास दुबे एनकाउंटर के बाद भी अब खुलेंगे सारे राज, धरा गया विभीषण

मुंबई एटीएस ने शनिवार को कानपुर एनकाउंटर मामले में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के करीबी और 25 हजार के इनामियां गुड्डन त्रिवेदी व उसके ड्राइवर सोनू तिवारी को गिरफ्तार कर लिया। दोनों को ठाणे से गिरफ्तार किया गया है। यह जानकारी महाराष्ट्र एटीएस ने दी।

मिली जानकारी के मुताबिक कानपुर चौबेपुर के बिकरू गांव में हुए एनकाउंटर के बाद गुड्डन उर्फ अरविंद उर्फ राम विलास त्रिवेदी और उसका ड्राइवर ठाणे में छिपकर रह रहा था। इसकी जानकारी एटीएस को हुई। जिसके बाद जूहू यूनिट ने कोलशेट रोड पर छापेमारी कर दोनों की घेराबंदी की और उन्हें धर दबोचा।

संतोष शुक्ला की घटना में शामिल था गुड्डन त्रिवेदी

गुड्डन त्रिवेदी और सोनू ने कानपुर के शिवराजपुर में वर्ष 2001 में हुई राज्यमंत्री संतोष शुक्ला की हत्या में भी शामिल थे। दोनों ने यह स्वीकार भी किया है। कानपुर एनकाउंटर के कुख्यात अपराधी विकास दुबे को मारे जाने के बाद अब उत्तर प्रदेश एसटीएफ के साथ केंद्र सरकार के प्रवर्तन निदेशालय ने उसके काले कारोबार की जांच शुरू कर दी है। उसकी संपत्तियों के साथ ही उसके आकाओं और फाइनेंसर्स को भी अब खंगाला जाएगा।

2 जुलाई को मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मी हुए थे शहीद

गौरतलब है की 2 जुलाई को पुलिस और विकास में हुई मुठभेड़ में 8 पुलिस जवान शहीद हो गए थे. इस मामले में पुलिस मुठभेड़ में घटना के 8 दिन बाद विकास का एनकाउंटर पुलिस ने कर दिया।

घटना के बाद से ही विकास के कई नेता, मंत्रियों, पुलिस अधिकारीयों के साथ फोटो सामने आने पर मामले की उच्च स्तरीय जांच कराई जा रही है. इसी के साथ पुलिस जगह-जगह दबिश देकर विकास के साथियों को भी गिरफ्तार कर रही है

 

 

 

 

ये भी पढ़े:

कानपुर में हुआ एनकाउंटर राजस्थान में डरा अपराधी |

बच्चन परिवार के बाद अनुपम खेर के परिवार को भी कोरोना |

राजस्थान की राजनीति में हुई ज्योतिरादित्य सिंधिया की एंट्री |

विज्ञान और वैज्ञानिक भी नहीं लगा सके भीम कुंड की गहराई का पता |

विकास दुबे के बाद अब बाहुबली मुख्तार पर कसा शिकंजा |