सुशांत मामले पे बोले टॉपर बाधा से लड़े,  डरे नहीं

यूपी बोर्ड में लहराया इस छोटे शहर का परचम, कोई बनना चाहता है टीचर तो कोई IAS बन करना चाहता है देश की सेवा

यूपी बोर्ड 2020 परीक्षा परिणाम मे पूरे प्रदेश में टॉप आए रिया और अनुराग सभी को बाधाओं से लड़ने की सलाह देते हैं. उन्होंने अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या मामले पर कहा कि आज के युवा ज़रा सी असफलता से डरने लगते हैं और गलत कदम उठा लेते हैं. ऐसा नहीं करना चाहिये. जीवन का दूसरा नाम ही संघर्ष है. इस सम्बन्ध मे रिया जैन ने बताया कि किस तरह उन्होंने परिस्थितियों से लड़ते हुए कक्षा 10 की परीक्षा में टॉप किया है.

मुफलिसी कि कहानी टॉपर कि ज़ुबानी….

आपको बताते चलें कि रिया जैन का परिवार आर्थिक रूप से मज़बूत नहीं है, उसने बड़ी ही मुफलिसी मे पढ़ाई की है.  रिया का कहना है कि गांव मे बिजली की भी बड़ी समस्या रहती है. उसने दिए कि रौशनी मे पढ़ाई की और सभी बाधाओं को पार करते हुए उत्तर प्रदेश में अपनी अलग पहचान बना ली है.
रिया भविष्य में टीचर बनकर बच्चों का भविष्य संवारना चाहती हैं. रिया के पिता एक छोटी सी किराना की दुकान चलाते हैं.  जिससे केवल दो जून की रोटी का ही बंदोबस्त हो पाता है. पिता कहते हैं कि बेटी की इस सफलता से वह बहुत खुश हैं. चाहें जैसे भी उनको पैसे का बंदोबस्त करना पड़े करेंगे और अपनी बेटी को उच्च स्तरीय शिक्षा दिलाएंगे.
 प्रधानाचार्य राजीव तोमर बताते है कि रिया प्रतिभा कि धनी छात्रा है. वह बहुत ही मेहनती और परिश्रमशील है. आज रिया ने स्कूल का नाम रोशन कर हमें गौरवान्वित महसूस कर आया है

साईकिल से तय करते हैं घर से स्कूल का सफऱ…..

क्लास 12th के टॉपर अनुराग मलिक IAS ऑफिसर बनकर देश की  सेवा करना चाहते हैं.  अनुराग ने मैथ से 12वीं मे उत्तीर्ण किया है. अनुराग के पिता इलेक्ट्रॉनिक के सामानो की दुकान चलाते हैं.  अनुराग कहते हैं कि वह अब और मेहनत करेंगे, ताकि अपने लक्ष्य को प्राप्त करते हुए देश कि सेवा कर सकें.
कोरोना संक्रमण पर उन्होंने कहा कि सरकार की अपील को अगर सभी माने तो हमें जल्द इस महामारी से निजात मिल सकती है. वह कहते हैं कि उन्होंने कभी कोचिंग या ट्यूशन नहीं लिया. नियमित रूप से स्कूल गए और जो स्कूल मे पढ़ाया गया उसका घर आकर रिवीजन कर लिया.  परीक्षा के समय भी उन्होंने बहुत प्रेशर लेकर पढ़ाई नहीं की.
अगर नियमित रूप से टाइम टेबल बनाकर पढ़ा जाए तो किसी भी परीक्षा मे सफल होना कोई बड़ी बात नहीं.  उन्होंने कोरोना काल मे भी सभी विद्यार्थियों को नियमित पढ़ाई करने की सलाह दी. वह बताते हैं कि किस तरह घर से स्कूल का सफऱ साईकिल से पूरा करते हैं और कम मे ही बहुत ज़ादा पाने की ललक रखते हैं.

UP मे बजा इस स्कूल का डंका….

UP के बागपत जिले के बड़ौत स्थित श्री राम एसएम इंटर कॉलेज ने बोर्ड के रिजल्ट मे डंका बजा दिया है. 10वीं मे रिया जैन और 12वीं मे इसी स्कूल के अनुराग ने तो बाजी मारी ही साथ ही दो और स्टूडेंट्स ने टॉप टेन मे जगह बनाई है. इस तरह इस स्कूल के चार बच्चों ने टॉप किया है.  दो तो पूरे प्रदेश मे टॉप पर हैं, तो दो ने 6th रैंक हासिल की है.
10वीं मे उज्जवल तोमर ने 94.50% हासिल कर पूरे प्रदेश मे छठे नंबर पर हैं, तो वहीँ 12वी मे गरिमा कौशिक 93.80% अंक हासिल कर पूरे प्रदेश मे छठे नंबर पर कायम है.
इस तरह इस स्कूल ने 2020 की परीक्षा मे 4 टॉपर दिए हैं, जिन्होंने टॉप टेन मे अपनी जगह बनाई. प्रधानाचार्य राजीव तोमर ने ख़ुशी ज़ाहिर करते हुए कहा कि हमारे यहाँ सभी बच्चे पढ़ने मे अच्छे हैं. नियमित रूप से स्कूल आते हैं.  शिक्षको का भी बहुत सहयोग रहता है. उन्होंने कहा कि यह गत कई वर्षो के प्रयास की सफलता है.
HindNow Trending : चीन के S-400 से है भारत को खतरा | कोरोनावायरस ने धारण किया रौद्र रूप | 
सपना चौधरी का नया गाना | कैसे बढ़ा सकते हैं इम्युनिटी | अंकिता लोखंडे ने खोला बड़ा राज