ये हैं कमजोर इम्यूनिटी के बड़े लक्षण, इन चीजों के सेवन से मजबूत करें इम्यूनिटी

कोरोना में कहीं आपकी इम्युनिटी तो नहीं है कमजोर, ये हैं लक्षण, जाने कैसे बढ़ा सकते हैं इम्युनिटी

कोरोनावायरस के इस दौर में इम्यूनिटी सबसे महत्वपूर्ण है ऐसे में अपनी इम्यूनिटी के सिस्टम की जानकारी के अनुसार उसे बढ़ाना बेहद जरूरी है।

किसी भी रोग से लड़नें में रोग प्रतिरोधक क्षमता यानी इम्यूनिटी की भूमिका सबसे ज्यादा होती है। इस इम्यूनिटी के दम पर इंसान किसी भी तरह की वायरल बीमारी से लड़कर स्वस्थ रह सकता है। कोरोनावायरस के इस दौर में भी वहीं लोग सर्वाइव कर पा रहें हैं, जिनकी इम्यूनिटी बेहतरीन है तो यदि आपके अन्दर भी यहां दिए गए कुछ लक्षण दिखते हैं तो आपको भी इम्यूनिटी बढ़ाने की आवश्यकता है।

ज्यादा थकान होना

अक्सर देखा जाता है कि लोगों को पूरे दिन थकान रहती है वो अच्छी नींद लेते हैं अच्छा भोजन भी करते‌ है आराम भी करते हैं फिर भी ये थके रहते हैं जो कि इम्युनिटी कम होने‌का बड़ा‌ लक्षण माना‌ जाता है।

पाचन की बुरी समस्या

ऐसे लोग जिनकी पाचन क्रिया गड़बड़ रहती है। अगर आपको बार-बार दस्त, अल्सर, गैस, सूजन, ऐंठन, या कब्ज होती है तो यह आपकी कमजोर इम्यूनिटी का और इम्यून सिस्टम मजबूत दिक्कतों का साफ संकेत है। प्रोबायोटिक्स, लैक्टोबैसिली और बिफीडो अच्छे बैक्टीरिया होते हैं और ये संक्रमण से आंत की रक्षा करते हैं।

देर से घाव भरना

अक्सर देखा जाता है कि लोगों को चोट लग जाती है और छोटे-छोटे घाव है जाते हैं लेकिन कई बार कुछ लोगों में ये घाव जल्दी ठीक नहीं होते हैं ऐसे में घाव का जल्दी ठीक न होना कमज़ोर इम्यूनिटी की ओर इशारा करता है।

एलर्जी की समस्या

ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्हें एलर्जी की बुरी समस्या होती है वो आए दिन बुखार सरदी ज़ुकाम के शिकार होते ही रहते हैं या जिनके जोड़ों में दर्द और पेट में अक्सर समस्याएं होती रहती हैं तो ये इस बात का साफ संकेत है कि इम्यूनिटी काम नहीं कर पा रही और उसे अधिक एनर्जी की आवश्यकता है।

बार-बार बीमार पड़ना

ऐसे लोग जिन्हें हर थोड़े दिनों में कोई-न-कोई बीमारी अपने जद में ले लेती है जो आए दिन खांसी जुकाम या वायरल बुखार से पीड़ित रहते हैं तो ये साफ संदेश है कि आपकी इम्यूनिटी में समस्या है जिसके चलते आप इन साधारण बीमारियों की हमेशा जद में रहते हैं।

कैसे बढ़ाएं अपनी इम्यूनिटी

इन लक्षणों को देखने के बाद आपके मन में यही सवाल होगा कि हमारी समस्या तो पता चल गई लेकिन इसका हल क्या है कैसे निकाला जा सकता तो हम आपको उससे जुड़े फायदेमंद पदार्थ भी बता‌ रहे हैं, जो आपकी इम्युनिटी में बूस्टर का आम करेंगे।

स्ट्रॉबेरी का करें सेवन

कई तरह के डाइटिशियंस का ये कहना है कि एक दिन के विटामिन C की जरूरत को पूरा करने के लिए आधा कप स्ट्रॉबेरी काफी है, क्योंकि आधे कप स्ट्रॉबेरी में 50 फीसदी विटामिन C पाया जाता है। एक विशिष्ट डायटिशियन ने बताया,

‘पर्यावरण की वजह से हमारे कोशिकाओं को कई तरीके से नुकसान पहुंचता है और विटामिन C इन्हें क्षतिग्रस्त होने से बचाता है।’

फायदेमंद है ब्रॉकली

ऐसा माना जाता है कि आधे कप ब्रोकली में 43 फीसदी विटामिन सी होता है। National Institutes of Health के अनुसार आपके शरीर को रोजाना इतने ही विटामिन C की जरूरत होती है। अमेरिका के EHE Health में फिजिशियन डॉक्टर सीमा सरीन का कहना है,

‘ब्रोकोली फाइटोकेमिकल्स और एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होती है जो हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत करती है। इसमें विटामिन E भी होता है, जो एक एंटीऑक्सीडेंट है और ये बैक्टीरिया और वायरस से लड़ने में मदद करता है।

इम्यूनिटी बूस्टर है लहसुन

लहसुन को इम्युनिटी बूस्टर भी कहा जा सकता है। इस मामले में सामन्य रोगों से जुड़े डॉक्टरों ने एकमत से बताया है

‘लहसुन खाने में स्वाद तो बढ़ाता ही है, यह सेहत के लिए भी कई तरीके से फायदेमंद है, जैसे ब्लड प्रेशर और दिल से जुड़े खतरों को कम करना। लहसुन में पाये जाने वाले सल्फर यौगिक की वजह से यह संक्रमणों से लड़ने में मदद करता है। इसके अलावा ये इम्यूनिटी भी बढ़ाता है।’

लाल शिमला मिर्च के फायदे

ऐसा माना जाता है कि लाल शिमला मिर्च में सबसे ज्यादा विटामिन सी पाया जाता है। अमेरिकी कृषि विभाग के अनुसार, एक कप कटी हुई लाल शिमला मिर्च में लगभग 211 फीसदी विटामिन C होता है, जो कि संतरे में पाए जाने वाले विटामिन C का दोगुना होता है। इसका सेवन रोगियों से लेकर स्वस्थ लोगों में इम्यूनिटी बढ़ाने का बेहतरीन काम करता है।

प्रोटीन से भरपूर चने

अक्सर कहा जाता है कि चने का खाली पेट सेवन करना चाहिए। चने में प्रोटीन की मात्रा सबसे अधिक मानी जाती है। इसमें अमीनो एसिड से बना आवश्यक पोषक तत्व पाया जाता है, जो शरीर के ऊतकों को बढ़ने और मजबूत करने में मदद करता है, मजबूती के साथ ही ये शरीर में काम करने की क्षमता और इम्यूनिटी को बढ़ाने में मदद करता है।

विटामिन-डी के लिए फायदेमंद मशरूम

कई बड़े डायटीशियन मानते हैं, मशरूम में बड़ी मात्रा में विटामिन डी पाया जा है। 2018 में विटामिन डी स्रोत के रूप में मशरूम के उपयोग पर एक समीक्षा की गई थी। इसमें पाया गया कि मशरूम कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ाता है, जो हड्डियों के विकास और उनकी मरम्मत के लिए बहुत अच्छा है और इसके साथ ही ये शरीर में इम्यूनिटी बढ़ाने का भी कारगर काम करता है।

 

 

HindNow Trending : भारत दे सकता है चीन को मात | गंगा ने बढ़ाई उत्तर प्रदेश की मुसीबत | शादीशुदा 
महिला जाँच में निकली पुरुष | रविवार का दिन इन राशियों के लिए है काफी शुभ | यूपी बोर्ड में लहराया इस 
छोटे शहर का परचम