हाथरस रेपकांड मामले में सवालों के दायरें में फंसी UP पुलिस
/

हाथरस रेपकांड मामले में सवालों के दायरें में फंसी यू पी पुलिस

हाथरस केस में यू. पी सरकार मुश्किलों में फंसी दिखाई दे रही है।  इस दुष्कर्म के मामले में पुलिस का बयान चौंकाने वाला है। एडीजी लॉ एंड ऑर्डर का कहना है कि पीड़िता के साथ रेप की पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन पीड़िता के बयान का एक वीडियो सामने आया है, जो इस बयान पर सवाल उठा रहा है। इस वीडियो में पीड़िता साफतौर पर कह रही है कि मेरे साथ रेप हुआ है।

क्या था पीड़िता का बयान

एक वीड़ियों में पीडिता का बयान सामने आया है जिसमें पीड़िता ने बताया कि एक महीना पहले भी मेरा रेप करने की कोशिश की। तब मैं बच गई। रवि (आरोपी) फोन पर कह रहा था, कुछ हुआ नहीं। तब भाग गया था. उस दिन रेप हुआ। वही दोनों थे। बाकी सब मम्मी को देखकर भाग गए थे। थोड़ा होश था. मम्मी ने मुंह में पानी डाला पूछा क्या हुआ? रेप हुआ।

दुष्कर्म ना होने की एडीजी ने कही बात

एडीजी प्रशांत कुमार ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बारे में बताते हुए कहा कि रिपोर्ट में दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई है। इन सब बातों के कारण यू.पी पुलिस सवालों के घेरे में आती जा रही है।

क्या कहा एसपी ने

एडिशनल एसपी प्रकाश कुमार ने कहा, ”SIT की जांच तक मीडिया पर रोक है। एसआईटी कह देगी हमारी जांच पूरी हो गई है तो मीडिया को जाने दिया जाएगा। हमें दो बातें कहने का निर्देश दिया गया है। जब तक एसआईटी यहां काम कर रही है। अधिकारियों का बयान नोट किया जा रहा है। जांच प्रभावित नहीं हो इसलिए रोक लगाई गई है। राजनीतिक लोगों को भी आने की इजाजत नहीं है।

क्या था मामला

बता दें कि 14 सितंबर को हाथरस जिले के चंदपा थाना क्षेत्र स्थित एक गांव की रहने वाली 19 वर्षीय दलित लड़की से कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया गया था। लड़की को रीढ़ की हड्डी में चोट और जीभ कटने की वजह से पहले अलीगढ़ के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था।

 

 

 

ये भी पढ़े:

बैन होने के बावजूद भी इन स्मार्टफोन में चल रहा है पबजी, जाने कैसे |

कपिल शर्मा शो में किकू शारदा बने अर्नब गोस्वामी फिर हुआ कुछ ऐसा |

थियेटर खुलने के बाद भी रिलीज नहीं होगी अक्षय की सूर्यवंशी, जाने वजह |

डोनाल्ड ट्रंप को हुआ कोरोना, वीरेंद्र सहवाग ने इस अंदाज में ली चुटकी |

हाथरस के बाद बलरामपुर में भी हुआ कांड, पीड़िता की मौत |