फ़िल्मी दुनिया में कदम रखने से पहले अध्यापक थे ये सितारे
/

फ़िल्मी दुनिया में कदम रखने से पहले थे अध्यापक हुआ करते थे ये सितारे

मुंबई : बॉलीवुड में हर एक्टर फिल्मों में अलग-अलग किरदारों में नज़र आते हैं. फिल्मों में इनका किरदार बदलता रहता है. लेकिन ऐसे किरदार केवल फिल्मों तक ही सिमित नहीं रहते। बॉलीवुड के कई बड़े एक्टर्स ऐसे हैं जो फिल्मों के अलावा भी अपने असल जीवन में टीचर रह चुके हैं. तो चलिए आज हम आपको ऐसे बॉलीवुड के बड़े स्टार्स के बारे में बताते हैं जो अपने असल जीवन में भी टीचर रह चुके हैं……

1. कादर खान

कादर खान ये नाम हमारे बॉलीवुड का ऐसा नाम है, जिन्हें कभी भुलाया नहीं जा सकता। कादर खान अब हमारे बीच नहीं हैं, लेकिन इनकी एक्टिंग जबरदस्त थी. कादर खान जिस भी फिल्मों में काम करते थे वो फिल्म का हिट होना तय था. कादर हर किरदार में फिट बैठते थे. कादर खान के एक्टिंग के अलावा डायरेक्टर भी थे और डायलॉग भी लिखते थे.

बता दें कि फ़िल्मी दुनिया में कदम रखने से पहले कादर खान मुंबई के एक कॉलेज में सिविल इंजीनियरिंग के प्रोफेसर थे. फिल्म इंडस्ट्री में कादर खान वो पहले इंसान थे जो प्रोफेसर बनने के अपने कदम फिल्मी दुनिया में रखे थे.

2. अनुपम खेर

बॉलीवुड में अनुपम खेर बहुत बड़ा नाम है. अनुपम खेर ने अपनी फिल्मी करियर में अच्छे और बुरे दोनों की भूमिका निभाई हैं. अनुपान खेर कालकर होने के साथ-साथ निर्माता और निर्देशक भी हैं. अनुपान खेर फिल्मी दुनिया से जुड़े होने के साथ-साथ एक टीचर भी हैं.

अनुपम पुरे देश के अलग-अलग जगहों पर एक्टिंग इंस्टिट्यूट चलाते हैं. जिसमें वो स्वयं अपने स्टूडेंट्स को एक्टिंग सिखाते हैं. बता दें कि अनुपान खेर के इंस्टिट्यूट से अभिनेत्री ईशा गुप्ता ने एक्टिंग सीखी थी.

3. अक्षय कुमार

बॉलीवुड के खिलाड़ी माने जाने वाले अभिनेता अक्षय कुमार बहुत सारे किरदार के रूप में नज़र आ चुके हैं. अक्षय हर साल लगभग 3 से 4 फिल्मों में अलग-अलग किरदार निभाते हैं. अक्षय कुमार फ़िल्मी दुनिया में कदम रखने से पहले एक शेफ थे. जिसके बाद वो एक स्कूल में टीचर बने जहाँ वो बच्चों को मार्शल आर्ट की शिक्षा देते थे. इसके बाद उन्होंने फिल्मों की दुनिया में अपना कदम रखा और आज अपने मेहनत के दम पर इतनी बड़ी मुकाम हासिल की है.

4. नंदिता दास

नंदिता दास फिल्म इंडस्ट्री की डायरेक्टर हैं. नंदिता भी अपने फिल्मी करियर से पहले एक टीचर थीं. नंदिता अपने थिएटर में काम करने के साथ-साथ एक स्कूल में बच्चों को पढ़ाती भी थी. स्कूल में पढ़ाने के साथ ही वो अपना थिएटर भी संभालती थी. लेकिन अपनी फिल्म “मंटो” बनाने के बाद नंदिता ने अपना पूरा फोकस फिल्मों में ही लगा दिया। अब वो केवल फिल्मों में ही अपना ध्यान लगाती हैं.

5. बलराज साहनी

बलराज साहनी यह नाम आज के जमाने के लिए एक मिसाल की तरह है. बलराज साहनी आज़ादी के पहले के अभिनेता हैं. बलराज उस ज़माने के बहुत पढ़े-लिखे इंसान थे. उन्होंने फिल्मी दुनिया में अपने दम पर एक मुकाम हासिल की थी. उस ज़माने में बलराज लाहौर और पंजाब यूनिवर्सिटी से इंग्लिश में डबल डिग्री प्राप्त की थी. साथ-ही उन्होंने हिंदी में भी बैचलर की डिग्री प्राप्त कर रखी थी. वो भी फ़िल्मी दुनिया के अलावा वो बंगाल में अपने स्टूडेंट्स को हिंदी की शिक्षा देते थे.

6. चंद्रचूड़ सिंह

बॉलीवुड अभिनेता चंद्रचूड सिंह को बहुत कम लोग ही जानते होंगे। ये बहुत कम फिल्मों में ही नज़र आते हैं. बता दें कि चंद्रचूड फ़िल्मी दुनिया में आने से पहले म्यूजिक टीचर थे. स्कूल में चंद्रचूड अपने स्टूडेंट्स को म्यूजिक की जानकारी देते थे, उन्हें म्यूजिक सिखाते थे. शुरू से ही इन्हें गायन का खूब शौक था और उन्हें म्यूजिक की शिक्षा भी ग्रहण की थी.

 

 

 

 

 

 

ये भी पढ़े:

ड्रग्स मामले में रिया ने सारा अली खान, रकुल प्रीत और इस बड़ी मछली का लिया नाम |

भारत और चीन: अरुणाचल प्रदेश के लापता 5 भारतीय युवकों का ड्रैगन ने किया था अपहरण |

PMAY के तहत करीब 1.75 करोड़ लोगों का आज “गृह प्रवेश” |

गायिका अनुराधा पौडवाल के बेटे आदित्य पौडवाल का 35 की उम्र में निधन |

जानें कैसे कट रहे हैं जेल में सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती के दिन-रात |