देश के इन राज्यों के अस्पतालों में पहुंची कोरोनावायरस की कारगर दवा, अब होगा कोरोना का अंत
/

देश के इन राज्यों के अस्पतालों में पहुंची कोरोनावायरस की कारगर दवा की पहली खेफ, अब होगा कोरोना का अंत

कोरोनावायरस का खौफ जारी है लोगों का ये संक्रमण तेजी से अपनी जद में ले रहा है और मौतों का आंकड़ा भी बढ़ रहा है ऐसे में कोरोनावायरस की दवा के‌ स़बंध में एक बेहद अच्छी खबर सामने आई है जो कि सरकार द्वारा दी गई है क्योंकि ये एक खबर लोगों के रसातल में जा चुके मनोबल को बढ़ाने के लिए बेहद महत्वपूर्ण मानी जा रही है।

दवा के इस्तेमाल को मंजूरी

कोरोनावायरस के खौफनाक मंजरों के बीच सरकार ने कोरोनावायरस की जेनरिक दवा के इस्तेमाल को शर्तों के साथ मंजूरी दे दी है।‌ इस दवा के प्रयोग से कोरोनावायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज़ में भारी मदद मिलने की संभावनाएं बताई जा रही हैं इसके चलते ही सरकार ने ये महत्वपूर्ण फ़ैसला लिया है।

कहां मिलेंगी दवा

दरअसल कोरोनावायरस की ये दवा हैदराबाद की कंपनी हैटरो ने रेमेडिसविर का जेनरिक वर्जन कोविफॉर के नाम से बनाया है जो कि बेहद कारगर माना जा रहा है। कंपनी 20 हज़ार वायल की पहली खेप दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु जैसे राज्यों को भेजी है जहां कोरोनावायरस का आतंक तेजी से बढ़ रहा है। यहीं नहीं हैदराबाद में भी इस दवा का इस्तेमाल किया जाएगा।

ये कंपनी भी कर रही काम

कोरोनावायरस के उपचार में कारगर रेमेडिसविर के चलते दूसरी कंपनी सिप्ला भी है इस दवा का उत्पादन करेगी इसके लिए कंपनी ने अमेरिका की गिलेड साइंस कंपनी से कारर भी कर लिया है। जिसकी कीमत 5,000 रुपए से कम रखी जाएगी। भारतीय ड्रग कंट्रोलर ने सिप्ला और हेटरो कंपनियों को कोरोनावायरस के गंभीर बीमारी से ग्रसित लोगों को देने के लिए इस दवा के उत्पादन की अनुमति दी है।

अगले चरण में आएंगे ये शहर

कोरोनावायरस के कारण पूरे देश में इस दवा‌ की मांग है ऐसे में लोगों में सवाल ये भी है कि इस दवा के अगले चरण में ये दवा कहां जाएगी। दवा की अगली खेप भोपाल, इंदौर, कोलकाता, पटना, लखनऊ, रांची, भुवनेश्‍वर, कोच्चि, विजयवाड़ा, गोवा और त्रिवेंद्रम भेजी जाएगी। फिलहाल यह दवा केवल अस्‍पतालों और सरकार के जरिए मिल रही है। मेडिकल स्टोर्स में इस दवा के बिकने की कोई अनुमति नहीं है।

 

 

 

HindNow Trending : आतंकवादी हमले में CRPF जवान हुए शहीद | कानपुर बालिका बालगृह 
मामले में योगी सरकार ने लिया बड़ा फैसला | सुशांत सिंह राजपूत के अंकिता लोखंडे और कृति सैनन से रिश्ते 
| सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म | कोरोनावायरस की दवा को लेकर अपनों ने ही छोड़ दिया बाबा रामदेव का साथ