चीन की बढ़ी मुसीबत, भारत के साथ आए 27 देश, ड्रैगन घुटने टेकने पर हुआ मजबूर

भारत द्वारा चीन को सबक सिखाने के लिए चीनी एप्प को बैन लगाने के बाद , चीन के खिलाफ 27 देशो ने खोला मोर्चा। इन 27 देशों ने चीन के खिलाफ UNHRC में शिकायत पेस की है। इस शिकायत में मानव के अधिकारों के उल्लंघन का पारित हॉन्ग कॉन्ग के सुरक्षा पर सवाल उठाया है।

27 देश चीन के विरोध में हुए एकजुट

दायर याचिका में चीन के संयुक्त राष्ट्र के उच्चायुक्त को झिजियांग और हॉन्ग कॉन्ग में पहुंचने की अनुमति का आग्रह किया है। ताकि वह पर अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत अपने अधिकारों और स्वतंत्रता की रक्षा कर सकें।

हाल ही में भारत सरकार द्वारा 59 चीनी एप्प को प्रतिबंधित कर दिया गया था, उसके बाद अमेरिका ने मंगलवार को दो चीनी कंपनियां , हुआवेई टेक्नोलॉजीज और जे ई टी ई कारपोरेशन को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा मानते हुए उन पर रोक लगा दी है। इसके बाद अमेरिकी राष्ट्रपति ने एक कानून पारित की, जो चीन को जातीय अल्पसंख्यक पर कार्रवाई के लिये दंडित करेगा। साथ ही अमेरिका ने चीनीयो के हरकतों को देखते हुये हॉन्ग कॉन्ग के साथ रक्षा निर्यात पर प्रतिबन्ध लगा दी है।

कपटी चीन की चालबाजी —

कोरोना वायरस की वजह से चीन दुनिया के नजरो में खटका हुआ है। चीन द्वारा फैलाया गया यह महामारी विश्व भर में अब तक 513913 लोगों की जान ले चूका है, वहीं 10585152 लोग संक्रमित हो चुके हैं।चीन पर शुरुआत में ही  इस वायरस को छुपाने पर सवाल उठ रहा है । बताया जा रहा कि ये वायरस चीन में अगस्त से फैल रहा है। जिसकी सूचना चीन ने विश्व को नही दी और इसे सबसे छुपाई। चीन इस संक्रमण के बीच अपने नीति को आगे बढ़ाया, जिसकी वजह से दुनिया भर को परेशानी का सामना करना पड़ा।

 

 

 

 

Hindnow Trending : धोनी के वो रिकॉर्ड्स जिन्हें तोड़ना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है | अगर आपकी भी है बैंक 
या पोस्ट ऑफिस में एफडी तो तुरंत करें ये जरूरी काम | जानिए किन राशियों पर है शनि भारी | दिल्ली और महाराष्ट्र 
में कोरोनावायरस के कहर से दहशत | सुशांत सिंह राजपूत के मामले में उग्र राज ठाकरे | 4 इंजनों की ताकत 
से दौड़ा भारतीय रेलवे का शेषनाग

Leave a comment

Your email address will not be published.