दिल्ली और महाराष्ट्र में कोरोनावायरस के कहर से दहशत, 31 जुलाई तक बंद अंतरराष्ट्रीय विमान सेवाएं

दिल्ली और महाराष्ट्र में कोरोनावायरस के कहर से दहशत, सरकार ने लंबे समय तक के लिए बंद की अंतरराष्ट्रीय उड़ाने

कोरोनावायरस के मामले सबसे ज्यादा दिल्ली और महाराष्ट्र में हैं जिसके चलते दोनों राज्यों की सरकारे हर दिन नीतियां बदल रहीं हैं।

नई दिल्ली: देश में कोरोनावायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है आए दिन संक्रमितों के आंकड़ों के नए रिकॉर्ड बन रहे हैं। इसी बीच पिछले 24 घंटों में कोरोनावायरस के 22,721मामले सामने आए हैं, वहीं इस दौरान 444 लोगों की कोरोनावायरस के कारण मौत हुई है। आपको बता दें कि देश में कोरोनावायरस के संक्रमितों की कुल संख्या 6,49,889 पहुंच गई है। जिनमें 2,36,901 एक्टिव केस हैं।

31 जुलाई तक बंद अंतरराष्ट्रीय विमान सेवाएं

कोरोनावायरस को देखते हुए अनलॉक-2 की गाइडलाइन के अनुसार अंतरराष्ट्रीय विमान सेवाओं को 31 जुलाई तक के लिए रोक दिया गया है। डीजीसीए के मुताबिक अलग-अलग परिस्थितियों के अनुसार चुनिंदा हवाई क्षेत्र में विमान सेवाओं की अनुमति दी जा रही है। आपको बता दें देश में 23 मार्च से अंतरराष्ट्रीय विमान सेवाएं बंद हैं।

शहीद के नाम कोरोना वार्ड

कोरोनावायरस के पीड़ितों के लिए दिल्ली में जो सरदार वल्लभभाई पटेल कोरोना हॉस्पिटल में कोरोनावायरस का वार्ड बन रहा है उसका नाम गलवान घाठी में शहीद हुए जवान के नाम पर रखा जाएगा। इस वार्ड का नाम शहीद कर्नल संतोष बाबू के नाम पर रखा जाएगा जो उस पूरी सेना की पेट्रोलिंग टीम को लीड कर रहें थे।

दिल्ली में बड़ा फैसला

दिल्ली कोरोनावायरस का प्रकोप देखते हुए सरकार हर दिन नए कदम उठा रही है, इसी बीच अब सरकार ने फैसला किया है कि कंटेनमेंट जोन के बाहर के क्षेत्रों में भी कोरोनावायरस के रैपिड एंटीजन टेस्ट किए जाएंगे जिससे कोरोनावायरस के संक्रमण पर लगाम लगेगी। आंकड़ों की बात करें तो अब तक दिल्ली में 94 हजार से ज्यादा कोरोनावायरस से संक्रमितों के केस आए हैं।

महाराष्ट्र की भयावह स्थिति

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के राज्य महाराष्ट्र में कोरोनावायरस का आतंक सबसे ज्यादा है अब तक 1लाख 92 हजार लोगों को इस संक्रमण ने अपनी चपेट में लिया है इसके साथ ही इलाज मिलने के चलते ठीक होने वालों की संख्या करीब 1लाख 68 हजार पहुंच गई है जो कि एक अच्छी खबर है।

इसी बीच महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने एनसीपी प्रमुख शरद पवार और गठबंधन में सहयोगी कांग्रेस नेताओं के साथ बैठक कर कोरोनावायरस के आतंक पर विस्तृत चर्चा की है। आपको बता दें कि राज्य में सबसे ज्यादा मरीज मुंबई से है जो करीब 81हजार तक पहुंच गए हैं।

अयोध्या में मीटिंग

कोरोनावायरस के कारण अभी तक अयोध्या रामजन्म भूमि ट्रस्ट के सदस्य अभी तक मीटिंग नही कर पाए थे। लेकिन खबरों के मुताबिक 18 जुलाई क़ो रामजन्म भूमि ट्रस्ट के सभी सदस्य अयोध्या में बैठक करेंगे और इस मामले में विस्तृत चर्चा करते हुए मंदिर निर्माण का खाका तैयार करेंगे। वहीं ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास का आग्रह है कि रामजन्म भूमि की पहली ईंट प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपने हाथों से रखें।

 

 

 

 

Hindnow Trending : बाबा रामदेव की कोरोनिल दवा को मिला सरकार की मंजूरी | मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 
ने कोरोना को देखते हुए लिया बड़ा फैसला | चीन की बढ़ी मुसीबत, भारत के साथ आए 27 देश | कोरोनावायरस 
की वैक्सीन 15 अगस्त को भारत में होगा लॉन्च | आज इन राशियों को होगा धन लाभ बन सकते हैं योग | 24 घंटे 
में रिकॉर्ड 377 लोगों का निधन | फर्जी शिक्षको की खैर नहीं