8 महीने में 6 लोगों से की शादी, अगले ही दिन करती थी ये काम
/

8 महीने में 6 लोगों से की शादी, शादी के अगले दिन दुल्हन करती थी ये काम

देश के अलग-अलग हिस्सों में लुटेरी दुल्हनों के मामले सामने आ रहे है।

रतलाम- देश के अलग-अलग हिस्सों में लुटेरी दुल्हनों के मामले सामने आ रहे है। फिल्मी स्टाइल में ये दुल्हनें लोगों को विश्वास में लेकर ब्याह रचाती हैं और उसके बाद मौका देख माल समेट कर फरार हो जाती हैं। ऐसा ही मामला मध्य प्रदेश के रतलाम में सामने आया हैं। यहां पर लुटेरी दुल्हन शादी के दो दिन बाद ही फरार हो गई। वहीं, पुलिस को दूल्हे का शव मिला है। जिसके बाद पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

गिरोह की महिला सदस्य हुई गिरफ्तार

10 दिन पहले 29 जुलाई को रतलाम के थाना सेलेना क्षेत्र के बाईपास पर एक युवक का शव पेड़ से लटका मिला था। शव मिलने के बाद पुलिस मामले की तह तक पहुंचने में जुट गई थी। पुलिस ने इस केस से जुड़ा एक बड़ा खुलासा किया है। इस हत्या के पीछे लुटेरी दुल्हन गिरोह का हाथ बताया जा रहा है। इस गिरोह की एक सदस्य मीनाक्षी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हालांकि बाकी साथी अभी भी फरार हैं। बताया जा रहा है कि इस लुटेरी दुल्हन गिरोह ने 3 सालों में राजस्थान और गुजरात में कई शादियां करवाकर लूट की वारदातों को अंजाम दिया है। इस दुल्हन ने मृतक युवक से भी 27 जुलाई को शादी की थी।

एक शादी के लिए मिलते थे 10 हजार

मीनाक्षी ने पुलिस को बताया कि वह तीन साल पहले अपने पति को छोड़ने के बाद अलग रहने लगी थी। इस बीच मीनाक्षी की मुलाकात उत्तर प्रदेश निवासी पुष्पेंद्र दुबे नामक युवक से हुई जो शादी कर ठगी करने के मामले में मीनाक्षी का भाई गजेंद्र पुरोहित बनकर मृतक के परिवार से मिला था। मीनाक्षी ने पुलिस को बताया कि उसे एक शादी के 10 हजार रुपए मिलते थे। मीनाक्षी अब तक राजस्थान, गुजरात, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश के कई क्षेत्रों में झूठी शादी का नाटक कर चुकी है। 8 महीने में वह 6 शादियां कर चुकी है।

ये है पूरा मामला

एसपी गौरव तिवारी ने बताया कि मृतक युवक महेंद्र राजस्थान के घलकिया का निवासी था और काफी समय से कुवैत में इलेक्ट्रिशियन का काम कर रहा था। 7 महीने पहले ही महेंद्र शादी के लिए अपने घर लौटा था। लॉकडाउन के बाद वह शादी के लिए दुल्हन की तलाश करने लगा जब परिजनों के माध्यम से बात नहीं बनी तो वो गांव के ही शादी करवाने वाले एक एजेंट से मिला। जिसके बाद एजेंट मुकेश ने धार की रहने वाली मीनाक्षी पुरोहित से उसकी शादी तय करवाई थी।

28 जुलाई की रात दुल्हन के परिवार के कुछ लोग आए थे। जो धार में अपने परिवार के अन्य लोगों से आशीर्वाद दिलवाने के नाम पर मीनाक्षी और महेंद्र को अपने साथ ले गए। हालांकि आरोपी दुल्हन से पूछताछ में सामने आया कि रास्ते में ही मृतक महेंद्र को लुटेरी दुल्हन गिरोह पर शक हो गया था। जिसके बाद गाड़ी में ही उन लोगों में विवाद शुरू हो गया था।

 

 

 

 

ये भी पढ़े:

दिशा सालियान का पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा |

ऐश्वर्या-सलमान से लेकर बॉलीवुड के ये सितारे चोरी छिपे प्यार करते हुए पकड़े गये |

उमाकांत का बड़ा खुलासा, 5 पुलिसकर्मी की लाश शौचालय में जलाने जा रहा था विकास |

इन भारतीय खिलाड़ियों की पत्नियां हैं बॉलीवुड एक्ट्रेस से भी खूबसूरत |

मनोज तिवारी ने बोला अमित शाह को लेकर ये झूठ, डिलीट करना पड़ा ट्वीट |