अमर सिंह का इलाज के दौरान सिंगापुर में निधन, नरेंद्र मोदी ने..
/

अमर सिंह का इलाज के दौरान सिंगापुर में निधन, नरेंद्र मोदी ने कही ये बात

राज्यसभा सांसद और मशहूर कॉरपोरेट लेवल के शख्स अमर सिंह ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। उन्होंने सिंगापुर के एक अस्पताल में अपनी आखिरी सांस ली। अमर सिंह खराब स्वास्थ्य से लंबे वक्त से जूझ रहे थे। अमर सिंह भाजपा कांग्रेस समाजवादी पार्टी समेत कई राजनीतिक दलों के करीबी थे उनके निधन पर सभी के नेताओं ने अपनी संवेदनाएं प्रकट की है।

64 साल की उम्र में देहावसान

आपको बता दें कि अमर सिंह लंबे वक्त से बीमार थे, जिसके चलते वो अधिकतम बेड पर ही सीमित हो गए थे‌ और इस कारण ही वो सिंगापुर के अस्पताल में 64 साल की उम्र में अपना इलाज़ करा रहे थे, उनके निधन के दौरान उनके परिवार और कुछ करीबी लोग ही अस्पताल में थे, खबरों के मुताबिक उनका हाल ही में किडनी ट्रांसप्लांट हुआ था, जो सफल नहीं रहा।

सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव

अमर सिंह बीमार जरूर चल रहे थे, लेकिन वो सोशल मीडिया पर बहुत ही ज्यादा एक्टिव थे उनके ट्वीट आए दिन सामने आते रहते थे। शनिवार को भी उन्होंने दुनिया छोड़ने से पहले दो ट्वीट किए जिसमें स्वतंत्रता सेनानी बाल गंगाधर तिलक को नमन के साथ ही ईद-उल-अजहा की शुभकामनाएं दी थीं। लेकिन अफसोस कि वो उनके आखिरी ट्वीट थे।

संवेदनाओं का दौर

इस मौक़े पर अमर सिंह के परिवार को लेकर नेताओं ने संवेदना जाहिर करते हुए उनके साथ खड़े होने की बात कही है। इसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का नाम भी शामिल हैं। उन्होंने इस मौके पर अमर सिंह को श्रद्धांजलि दी और उनके परिवार के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की।

इसके अलावा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी शोक जाहिर किया। वहीं उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, बीजेपी के प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन ने अपने-अपने तरीके से ट्विटर पर शोक व्यक्त किया।

विवादित है ये नाम

आपको बता दें कि भारतीय राजनीति में अमर सिंह का नाम काफी बड़ा है। वो लगभग-लगभग हर एक बड़े राजनीतिक दल के साथ कनेक्शन के चलते चर्चा में रहते थे। कैश फॉर वोट, से लेकर समाजवादी पार्टी मे फूट में उनका नाम विवादों में आया था। उन्हें समाजवादी पार्टी ने राज्यसभा भेजा था, लेकिन बाद में सपा ने उन्हें पार्टी के पद से बेदखल कर दिया था, जिससे वो केवल राज्यसभा सदस्य के पद पर ही थे।

 

 

 

 

 

ये भी पढ़े:

29 जून को ये करने वाले थे सुशांत सिंह राजपूत, बहन ने शेयर किया प्लानिंग चार्ट |

महात्मा गांधी की मृत्यु पर कैसा था पाकिस्तान का माहौल, इस शख्स ने शेयर की पेपर कटिंग |

बिकरू कांड में शहीद पुलिसकर्मियों के परिवारों को मिली 30-30 लाख की आर्थिक मदद |

जबलपुर का वो परिवार जिसने बिना एक पेड़ काटे, बना लिया अपना घर |

आत्महत्या से पहले सुशांत ने अंकिता को फोन कर कही थी ये बात |