बिकरू कांड में शहीद पुलिसकर्मियों के परिवारों को मिली 30-30 लाख की आर्थिक मदद

कानपुर: बिकरू कांड में शहीद हुए पुलिसकर्मियों को लेकर सभी के मन सांत्वना का भाव है। उनके परिवार को आर्थिक मदद देने की बात उत्तर की योगी आदित्यनाथ सरकार ने की थी जिसके चलते अब उन शहीद परिवारों को मदद दी भी गई है। इसके साथ ही उन्हें सरकार की तरफ से कुछ लाभ भी दिए गए हैं जो कि भविष्य में उनके लिए फायदेमंद होंगे।

सीएम ने की मुलाकात

बिकरू कांड में शहीद पुलिसकर्मियों के परिवारों को मिली 30-30 लाख की आर्थिक मदद

जिस तरह से बिकरू कांड में 8 पुलिसकर्मियों की शहादत हुई थी वो बेहद ही दर्दनाक थी जिसके बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर आकर उन्हें श्रद्धांजलि दी थी। यहीं नहीं अब मुख्यमंत्री ने अपने आवास पर बिकरू कांड में शहीद हुए सीओ देवेंद्र मिश्रा और थानाध्यक्ष महेश कुमार यादव के परिवार से भेंट करते हुए उनका हालचाल जाना।

इसके साथ ही उन्होंने देवेंद्र मिश्रा की पत्नी को आश्वासन दिया कि उनके परिवार का खर्च और बेटियों की प़ढ़ाई का ख़र्च सरकार वहन करेगी। शहीद सीओ देवेंद्र मिश्रा की पत्नी ने बताया कि बच्चों के हालचाल की स्थिति को लेकर सीएम ने उन्हें आवास पर बुलाया था और सभी प्रकार की मदद देने का भरोसा दिया है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने आधे घंटे तक चर्चा की।

मिले 30 लाख रुपए

बिकरू कांड में शहीद पुलिसकर्मियों के परिवारों को मिली 30-30 लाख की आर्थिक मदद

दरअसल उत्तर प्रदेश सरकार और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के एमओयू के तहत बिकरू कांड में शहीद पुलिसकर्मियों के परिवार को एक बड़ी मदद मिली है। बड़ी बात ये है कि यूपी में पहली बार इस एमओयू के तहत पुलिसकर्मियों को मदद मिली है। इस रकम की बात की जाए तो शहीद हुए प्रत्येक परिवार को 30 लाख रुपए की मदद दी गई है।

ऐसा पहली बार हुआ

ऐसा पहली बार हुआ जब उत्तर प्रदेश सरकार और एसबीआई के एमओयू के तहत किसी पुलिस कर्मी को इतधी बड़ी राशि दी गई है। ये सारी जानकारी डीआईजी प्रतिंदर सिंह ने दी है। उन्होंने बताया कि सभी शहीद पुलिसकर्मियों के परिवारवालों को 30-30 लाख की आर्थिक मदद दी गई है।

आपको बता दें कि 2-3 जुलाई की रात विकास दुबे ने पुलिसकर्मियों की टीम पर‌ हमला किया था, जिसमें 8 पुलिसकर्मियों की शहादत हुई थी। इसमें देवेंद्र मिश्रा, थाना प्रभारी शिवराजपुर महेश चंद्र यादव, चौकी इंचार्ज मंधना अनूप कुमार सिंह, सब इंस्पेक्टर नेबू लाल, सिपाही सुल्तान सिंह, सिपाही राहुल दिवाकर, सिपाही बबलू कुमार, सिपाही जितेंद्र शामिल थे। इन सभी के परिवारों को 30-30 लाख रुपए दिए गए हैं।

 

 

 

 

ये भी पढ़े:

अमर सिंह का इलाज के दौरान सिंगापुर में निधन, नरेंद्र मोदी ने कही ये बात |

सुशांत सिंह राजपूत के दोषियों को हर हाल में होगी सजा : उद्धव ठाकरे |

मछलीशहर में कोरोना को देखते हुए घरों में मनाया गया बकरीद, देखें तस्वीरें |

जौनपुर : पुलिस बनी रक्षक से भक्षक, गरीब और असहाय लोगों से ऐंठे जा रहे पैसे |

2 शख्स जिन्होंने राम मंदिर निर्माण के लिए अपना सब कुछ दांव पर लगा दिया |

Leave a comment

Your email address will not be published.