प्याज से फैल रही गंभीर बीमारी, न खाएं इस रंग के प्याज
/

प्याज से फैल रही गंभीर बीमारी, न खाएं इस रंग के प्याज

कोरोना से जूझ रही दुनिया के लिए ये एक नई चुनौती बन कर सामने आया है जिसने चिकित्सा वैज्ञानिकों को चिंतित कर दिया है।

वाशिंगटन- कोरोना से जूझ रही दुनिया के लिए ये एक नई चुनौती बन कर सामने आया है जिसने चिकित्सा वैज्ञानिकों को चिंतित कर दिया है। इस नए संक्रमण को लेकर जो जानकारी सामने आई है उससे पता चलता है कि ये संक्रमण सैल्मोनेला नामक बैक्टीरिया से फैल रहा है।
इस बीमारी की शुरुआत अमेरिका के कई राज्यों में हो चुकी है।

जानकार बता रहे हैं कि इस बीमारी की वजह है लाल और पीली प्याज। जानकारी के मुताबिक इस बीमारी की वजह से अब तक अमेरिका की 34 राज्यों में 400 से ज्यादा लोग बीमार हो चुके हैं।

सीडीसी ने अमेरिका में जारी किया अलर्ट

सीडीसी (सेंटर्स फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन) अमेरिका की सबसे बड़ी स्वास्थ्य एजेंसी है जिसने इस नए संक्रमण को लेकर अलर्ट जारी कर दिया है। अमेरिका वही देश है जो दुनिया में चीनी वायरस का सबसे बड़ा निशाना बना है और यहां सबसे अधिक कोरोना महामारी फैली है। ऐसे में यहां इस नए संक्रमण का चौंतीस राज्यों के चार सौ लोगों तक पहुंच जाना एक डरावनी खबर है।

60 लोगों है अस्पताल में भर्ती

कनाडा में भी सैल्मोनेला बैक्टीरिया के संक्रमण के केस सामने आए हैं। इस बैक्टीरिया की वजह से कनाडा में अब तक 60 लोग अस्पतालों में भर्ती हैं। अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने बताया कि अमेरिका के 34 राज्यों में संक्रमण फैलाने वाला सैल्मोनेला का सीधा संबंध लाल प्याज से है।

इन रंगों के प्याज से रहे सावधान

चातावनी जारी करते हुए CDC ने कहा है कि शुरुआती मामले 19 जून से 11 जुलाई के बीच सामने आए थे। थॉमसन इंटरनेशनल लाल, सफेद, पीली और मीठी प्याज को वापस मंगा लिया गया है। इस कंपनी द्वारा सप्लाई किए गए किसी भी प्याज को खाने या घर में रखने की जरूरत नहीं है।

 

 

 

ये भी पढ़े:

मेरठ में चल रहा था हुक्का बार, पार हुईं अश्लीलता की सारी हदें |

बॉलीवुड और ग्लैमर की दुनिया छोड़ ऐश्वर्या बनी IAS टॉपर |

10 वर्षों में इतनी बदल गईं टीवी पर बाल श्रीकृष्ण का किरदार अदा करने वालीं धृति, देखें तस्वीरें |

‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के चंपक चाचा की बीवी है बहुत स्टाइलिश, देखें तस्वीरें |

विकास दुबे के सहयोगी जय बाजपेई की बढ़ेगी मुश्किलें, फिर से शुरू होगी दर्ज मामलों की जांच |