भारतीय सेना के 'स्वीट एप्पल बाइट' से कांपने लगे हैं घाटी में आतंकी, आज फिर 3 को मार गिराया

भारतीय सेना के ‘स्वीट एप्पल बाइट’ से कांपने लगे हैं घाटी में आतंकी, आज फिर 3 को मार गिराया

कश्मीर में भारतीय सेना का सफाई अभियान अभी भी जारी है, भारतीय सेना पिछले 13 दिनों से लगातार आतंकियों को उनके बिल से निकालकर उनके 72 हूरो के पास भेज रही है. भारतीय सेना ने शोपियां में 13 दिनों में 22 आतंकियों को मार गिराया है.

2016 में आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद आतंकियों ने पुलवामा और शोपियां जिले को अपना निशाना बनाया. वहां के स्थानीय लोगों की माने तो पिछले 3 सालों में शोपियां के 85 लड़के आतंकी बनने के राह पर निकल पड़े. जिसके बाद भारतीय सेना ने ऑपरेशन “स्वीट एप्पल बाईट” शुरू किया और 12 लड़को को आतंकी बनने के कुछ दिन बाद ही धर दबोचा था, तो कुछ आतंकी बनने के पहले ही लौट आए थे.

अब सेना “स्वीट एप्पल बाईट” अभियान के तहत घाटी में सफाई अभियान चला रही है और आतंकियों का खात्मा कर रही है. आज जब जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में जुमीनार पुलिस स्टेशन के पास पोज्वालपुर मुहल्ले में आतंकियों की छिपे हुए कि सूचना मिली, जिसमे सुरक्षा कर्मी की टीम ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया.

सुरक्षा कर्मियों की टीम से घीरे आतंकियों ने सुरक्षा टीम को निशाना बनाया, जिसके बाद सुरक्षा और आतंकियों के बीच गोली चलाने लगी और सुरक्षा कर्मियों ने तीन आतंकी को मार गिराया. इस ऑपरेशन में सीआरपीएफ की 115 व 28वीं बटालियन और जम्मू कश्मीर की पुलिस ने अंजाम दिया.

स्थानीय लोग कर रहे मदद

सेना और पुलिस द्वारा चलाए जा रहे इस अभियान में स्थानीय लोग अब खुलकर सेना की मदद कर रहे और वहां से आतंकियों को खत्म करने में देश की मदद कर रहे हैं. सेना के एक अधिकारी ने बताया कि

“हमने कश्मीर को आतंकवाद मुक्त बनाने के अपने अभियान को गति दे रखी है. इसमें मिल रही सफलता विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों के बीच व्यापक तालमेल और स्थानीय लोगों के सहयोग का ही नतीजा है. जल्द ही हम यहां स्थायी शांति बहाली के अपने लक्ष्य को हासिल कर लेंगे.”

 

 

 

 

HindNow Trending: भारत-चीन विवाद में बीच में आए डोनाल्ड ट्रंप | सुशांत सिंह राजपूत के अंतिम फिल्म | 
बॉलीवुड के वो सितारें जो एल्कोहल को हाथ तक नहीं लगाते हैं | भारतीय वायुसेना ने उत्तराखंड में उड़ाया ग्लोबमास्टर | 
जम्मू-कश्मीर में आतंक के खिलाफ जारी है भारतीय सुरक्षाबलों का तांडव