चौबेपुर थाने में विकास दुबे का भूत, पुलिस कर रही पुजा पाठ
/

चौबेपुर थाने में विकास दुबे का भूत, पुलिस कर रही पुजा पाठ और हवन

उत्तर प्रदेश के कानपुर के चौबेपुर थाने के बिकरू गांव में दो जुलाई की रात को सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियाें की हत्या के सभी नामजद अपराधियों का एनकाउंटर और जेल भेज दिया गया है।

कानपुर- उत्तर प्रदेश के कानपुर के चौबेपुर थाने के बिकरू गांव में दो जुलाई की रात को सीओ सहित आठ पुलिसकर्मियाें की हत्या के सभी नामजद अपराधियों का एनकाउंटर और जेल भेज दिया गया है। मंगलवार को चौबेपुर थाने का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इस वीडियो में थाने के कई पुलिसकर्मी हवन करते नजर आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि थाना परिसर में ही बने मंदिर में ये हवन किया जा रहा है। वहीं सोशल मीडिया पर लोग पूजा पाठ को लेकर तरह-तरह के कमेंट करने लगे। एक यूजर ने लिखा कि शहीद पुलिसकर्मियों की शांति के लिए हवन हो रहा है तो दूसरे यूजर ने लिखा कि विकास दुबे के भूत को भगाने के लिए।

क्या है मामला

विकास दुबे ने चौबेपुर थाने के अंतर्गत बिकरू गांव में 8 पुलिसकर्मियों की बेरहमी से हत्या कर दी थी। इस घटना के बाद हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे समेत 6 बदमाश ढेर कर दिए गए। इस घटनाक्रम के तकरीबन दो महीने बाद चौबेपुर थाने में पुलिसकर्मियों ने हनुमान चालीसा, हवन-पूजन किया, जिसकी चर्चा हर तरफ हो रही है।

इस दौरान थाने में तैनात सभी पुलिसकर्मी मौजूद रहे। मंत्रोच्चारण के साथ क्राइम कंट्राेल करने के लिए हवन किया गया। इस दौरान फरियादी अपनी फरियाद लिए पुलिसकर्मियों के हवन पूजन से उठने का इंतजार करते नजर आए।

एसपी ग्रामीण बोले हुई सामान्य पूजा

एसपी ग्रामीण बृजेश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि आज मंगलवार था और सामान्य हवन पूजन हो रहा था। जैसा कि आपको बता दूं कि हर थाने में मंदिर बने होते हैं और उनकी पूजा-अर्चना रोजाना होती है और यह एक सामान्य पूजा थी। किसी भी शिकायतकर्ता को बाहर इंतजार करने के लिए नहीं कहा गया था।

घटना के बाद पूरा थाना हुआ था सस्पेंड

बिकरू कांड में चौबेपुर थाने की पुलिस की भूमिका भी संदिग्ध मिली थी। एसओ रहे विनय तिवारी और हल्का इंचार्ज रहे केके शर्मा के संबंध दुर्दांत विकास दुबे से उजागर होने के बाद मुकदमा दर्ज कराया गया था और उन्हें सस्पेंड कर दिया गया था। वर्तमान में थानाध्यक्ष और दरोगा दोनों ही जेल की हवा खा रहे हैं। इसके बाद थाने के अन्य पुलिस कर्मियों की मिलभगत सामने आने पर दारोगा और सिपाहियों को भी जांच के बाद निलंबित कर दिया गया था। इस तरह जांच में भूमिका संदिग्ध देखकर पूरा थाना संस्पेंड करके नई तैनातियां की गई थीं। इसके बाद से नया स्टॉफ थाने में कार्य कर रहा है।

 

 

ये भी पढ़े:

चीन से तनाव के बीच भारत ने किया फिंगर 4 की चोटियों पर कब्जा? अब आगे क्या होगा |

PUBG हुआ बैन, सोशल मीडिया पर हुई मीम्स की बरसात |

सुशांत की बहन मीतू ने बताया 14 जून को क्या-क्या हुआ था |

OMG इस जानलेवा बीमारी से जूझ रही थी अमिताभ बच्चन की नातिन नव्या नवेली |

Pitru Paksha 2020: श्राद्ध में पितरों का आशीर्वाद पाने के लिए जरूर करें ये उपाय |