कोरोना रोकने के लिए योगी सरकार हुई सख्त, घर से बाहर निकलने से पहले जान लें ये नियम नहीं तो देना होगा 500 रूपये

भारत में कोरोना तेजी से बढ़ रहा है, ऐसे में उत्तर प्रदेश भी इससे अछुता नहीं है, प्रदेश में तेजी से बढ़ते केस की वजह से सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लोगों को पहले ही चेतावनी दे दी है, कि अगर बिना मास्क के कोई बाहर निकला तो उसे कड़ी सजा सुनाई जायेगी, साथ ही उसे जुर्माना भी भरना होगा।

सीएम ने दी सख्त चेतावनी—-

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोई भी व्यक्ति बिना मास्क के सार्वजनिक स्थान पर दिखे तो जुर्माना राशि में बढ़ोतरी की जा सकती है। उन्होंने कहा कि कोरोना के प्रसार को रोकने के लिये ये करना जरूरी है। जिसमे मुख्यमंत्री ने अनलॉक व्यवस्था की भी समीक्षा की।

उन्होंने कहा कि अवगत कराया जाय सबको कि अगर आवश्य कार्य हो तभी घर से बाहर निकलें अन्यथा न निकलें, साथ ही ये भी कहा कि जनता को दो गज की दूरी और मास्क लगाना है जरूरी ‘ ये अपने जीवन के हिस्से में बना लें।

अगर सार्वजनिक स्थान पर कोई व्यक्ति बिना मास्क के दिखे तो जुर्माना की राशि मे बढ़ोतरी की जा सकती है। उन्होंने स्वस्थ्य विभाग को आवश्यक दिशा निर्देश जारी करने को कहा है।

मुख्यमंत्री द्वारा समुचित व्यवस्था—

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में अब तक 33000 से अधिक कोविड हेल्प डेस्क की स्थापना हो चुकी है, इस पर संतोष जताते हुये उन्होंने कहा कि, बाल संरक्षण गृह, महिला संरक्षण गृह और वृद्धा आश्रम के निवासियों के परीक्षण कर रिपोर्ट देने को कहा गया है। साथ ही कहा कि अगर कोई संक्रमित मिले तो उसके उपचार की उचित व्यवस्था की जाए।

ज्यादा से ज्यादा किये जाएँ टेस्ट—

मुख्यमंत्री ने देश में टेस्ट की क्षमता बढ़ाने का निर्देश दिये हैं। उन्होने कहा कि कम से कम 30000 हजार टेस्ट कराया जाएँ। उन्होंने ये भी निर्देश दिए कि जो कोविड से संक्रमित हो उनके परिजनों को हमेश उनके स्वास्थ्य के बारे में सूचित करते रहे। उन्होने कहा कि इसके रोक थाम के लिए सेनेटाइजर को अंग बनाना होगा जिससे आप सुरक्षित रह सके।

 

 

 

ये भी पढ़े:

विकास दुबे के करीबी अमर दुबे को STF ने हमीरपुर में मार गिराया |

देश में तेजी से बढ़ रहा कोरोनावायरस |

सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या नहीं की थी उनका मर्डर हुआ था? |

सैलरी माँगना पड़ा महिला को भारी, मालकिन ने कुत्ते से कटवाया |

कानपुर से लेकर दुबई और बैंकाक तक है हिस्ट्रीशीटर विकास की अरबों की संपत्ति |

Leave a comment

Your email address will not be published.