पॉलीटेक्निक अभ्यर्थियों के वरदान साबित हुआ कोरोना काल, जाने डिटेल्स

पॉलीटेक्निक अभ्यर्थियों के लिए वरदान साबित हुआ कोरोना काल, जाने डिटेल्स

कोरोना काल के बीच 19 और 25 जुलाई को आयोजित होने वाली पॉलीटेक्निक प्रवेश परीक्षा के अभ्यर्थियों के लिए ये महामारी वरदान साबित होने वाली है. दरअसल उनको परीक्षा देने के लिए किसी अन्य जनपद मे जाने का झंझट नहीं होगा वह अपने ही गृह जनपद मे परीक्षा दे सकेंगे. दरअसल यह निर्णय कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप के कारण लिया गया है.

गत वर्षो तक अभ्यर्थियों को गृह जनपद के बाहर ही परीक्षा देनी होती थी. इसके लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद हर अभ्यर्थी को उसके गृह जनपद में ही परीक्षा देने की व्यवस्था कर रहा है। परिषद ने सूबे के सभी 75 जिलों से केंद्रों के संबंध में पूरी तैयारी करके जल्द ही सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए है.

कानपुर से सबसे ज्यादा आवेदन….

सचिव संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिषद एसके वैश्य ने बताया कि कोई भी अभ्यर्थी छूट न जाए, इसके लिए 21 जून तक  आनलाइन आवेदन की तिथि बढ़ा दी गई है। तिथि बढ़ने के बाद से आवेदन भी बढ़ने लगे हैं। बीते दो दिनों में 750 आवेदन बढ़े हैं। अब तक कुल 3.85 लाख आवेदन आ चुके हैं। जिसमे से सर्वाधिक आवेदन कानपुर से 16.5 हजार हैं। दूसरे नंबर पर प्रयागराज है।

यहाँ से करीब 16 हजार आवेदन आये है. लखनऊ में 36 व कानपुर और प्रयागराज में 44-44 परीक्षा केंद्र बनाने का निर्णय लिया गया है। 21 जून के बाद सभी केंद्रों की सूची जारी कर दी जाएगी।

परीक्षा होगी दो पाली मे…

19 जुलाई को परीक्षा सुबह 09:00 बजे से दोपहर 12 बजे तक ग्रपु-ए की परीक्षा ऑफ लाइन होगी. तो वहीँ दोपहर 02:30 बजे से शाम 05:30 बजे तक ग्रुप-ई की परीक्षा अॉफ लाइन। 25 जुलाई को सुबह 09:00 बजे से दोपहर 12:00 बजे तक ग्रुप-बी, सी, डी, एफ, जी, एच और आई की आनलाइन लाइन परीक्षा। दोपहर 02:30 बजे से शाम 05:30 बजे तक ग्रुप-के 1 से ग्रुप-के 8 तक की आनलाइन परीक्षा।

 

 

HindNow Trending: सूर्य ग्रहण : इन पाँच कामों को करने से बचे गर्भवती महिलाएं  | कोरोनावायरस के संक्रमण 
को रोकने के लिए इस राज्य के 3 शहरों में सरकार ने 12 दिनों के लिए लगाया लॉकडाउन |अहमदाबाद के एक 
फ्लैट में मिली 6 लोगों की लाश | सोनू निगम का बड़ा बयान | लखनऊ के रामस्वरूप केमिकल
 फैक्ट्री में हुआ धमाका