पाकिस्तान उच्चायोग के रवैए पर सख्त हुआ भारत, दे दिया ये बड़ा फरमान

पाकिस्तान को भारत ने दिखाई उसकी जगह, 7 दिन में 50% करो उच्चायोग स्टाफ

भारत ने पाकिस्तान से साफ कह दिया है कि दोनों देश अपने उच्चायोग के स्टाफ में 50% की कटौती करेंगें जिस पाकिस्तान ने अभी तक कोई बात नहीं कही है।

नई दिल्ली: भारत के सबसे कट्टर दुश्मन पाकिस्तान के साथ बॉर्डर पर तो हमेशा ही तनातनी रहती है, लेकिन नया मामला उच्चायोग के कर्मचारियों का है, जिसके कारण भारत और पाकिस्तान आमने-सामने आ गए हैं। भारत ने पाकिस्तानी उच्चायोग को 7 दिन के अंदर 50% तक का स्टाफ कम करने की बात कह दी है, इस एक बयान ने दोनों देशों के बीच कूटनीतिक रुप से तल्खियां बढ़ा दी हैं।

विदेश मंत्रालय ने दिया आदेश

भारत पाकिस्तान के बीच जासूसी के लंबे विवादों के बाद भारतीय विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के उच्चायोग को‌ कहा,

7 दिन में 50% स्टाफ कम करें। भारत भी इस्लामाबाद में अपने स्टाफ में इतनी ही कटौती करेगा।

क्यों कहीं ये बात

दरअसल भारत धे पिछले दिनों पाकिस्तानी उच्चायोग के नियुक्त दो कर्मचारियों को दिल्ली के एक इलाक़े से सुबह के वक्त जासूसी करते हुए पकड़ा था, जिसके बाद उन्हें भारत ने देश से निकाल दिया भारत के खिलाफ की इस साज़िश को देखते हुए भारत ने सतर्कता के तौर पर ये अहम फैसला ले लिया है।

इस पूरे मसले में बाद में पाकिस्तान ने भारत को अकड़ दिखाते हुए उसके इस्लामाबाद स्थित उच्चायोग के दो भारतीय उच्चायोग कर्मचारियों को एक्सीडेंट के फर्जी केस में गिरफ्तार कर लिया था।

पाकिस्तान ने नहीं दी है कोई प्रतिक्रिया

आपको बता दें कि पाकिस्तान ने इस मामले में अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। भारत ने पाकिस्तानी चार्ज डी अफेयर्स सैयद हैदर शाह को बताया कि पाकिस्तान हाईकमीशन के स्टाफ का बर्ताव वियना कन्वेंशन की शर्तों का पालन न करते हुए गलत हरकतें करता है। आपको बता दें कि कूटनीतिक भाषा में चार्ज डी अफेयर्स का मतलब कार्यवाहक हाईकमिश्नर होता है।

 

 

 

 

HindNow Trending : गोविंदा ने अब खोली सलमान खान की पोल | दिव्या कुमार खोसला ने दिया सोनू निगम
की धमकी का जवाब | नेपोटिज्म पर चीखने चिल्लाने वाले क्या अपने बच्चो को बॉलीवुड में आने से रोकेंगे | 
रूपा गांगुली ने सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या पर जताया संदेह | भारत-चीन सीमा विवाद में उलझी कैलाश यात्रा