1 रूपये में दिल्ली में रोज 11 से 1 बजे के बीच लगती है जरुरतमंदो का पेट भरने की श्याम रसोई

ऐसे कोरोना संकट के दौर में लोग दो वक्त की रोटी भी नहीं व्यवस्था कर पा रहे हैं। भोजन सबसे मूलभूत ज़रूरतों में से एक है। देश में हर कोई जानता है कि आज भी हमारे देश में लोग दो वक्त की रोटी की व्यवस्था करने में लाखों लोग नाकाम हो जाते हैं। कुछ लोग मजबूरी में मजदूरी करते हैं, लेकिन पूरा नहीं पड़ता और कभी-कभी भूखे पेट ही सोना पड़ता है। वहीं कुछ लोग नेक काम कर रहे हैं, जिससे किसी को भूखे न सोना पड़े।

एक रुपये में करवाते हैं लोगो को भोजन

1 रूपये में दिल्ली में रोज 11 से 1 बजे के बीच लगती है जरुरतमंदो का पेट भरने की श्याम रसोई

दिल्ली में एक व्यक्ति सिर्फ एक रुपये में लोगों को भोजन करवाते हैं। नांगलोई के भुट्टो गली में श्याम रसोई में सुबह 11 बजे से 1 बजे के बीच सिर्फ 1 रुपये में थाली मिलती है। न केवल गरीब श्याम रसोई के बाहर बल्कि हर वर्ग के लोग लाइन लगाते हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार, 51 साल के श्याम रसोई को चलाने वाले परवीन कुमार गोयल पिछले दो महीने से श्याम रसोई चला रहे हैं। उनका कहना है कि, “हम यहां 1,000 से 1,100 लोगों को खाना खिलाते हैं और तीन ई-रिक्शा के जरिए इंद्रलोक, साई मंदिर जैसे आस-पास के इलाकों में पार्सल भी उपलब्ध कराते हैं। श्याम रसोई में करीब 2,000 दिल्लीवासी भोजन करते हैं।

1 रूपये में दिल्ली में रोज 11 से 1 बजे के बीच लगती है जरुरतमंदो का पेट भरने की श्याम रसोई

मीडिया से बात करते हुए गोयल ने कहा, “हमें लोगों से दान मिलता है। कल एक बूढ़ी औरत आई और हमें राशन देने की पेशकश की। दूसरे दिन किसी ने हमें गेहूं दिया और इस तरह हम पिछले दो महीनों से इसे चला रहे हैं। लोग डिजिटल भुगतान मोड के माध्यम से भी हमारी मदद करते हैं और हमारे पास सात और दिन चलने की क्षमता है। साथ ही, मैं सभी से अनुरोध करता हूं कि वे राशन की मदद करें और इस सेवा को जारी रखें।”

 

 

ये भी पढ़े:

हिंदी जोक्स : बीवी- बाबाजी! यदि मैं जवान लड़के को Kiss करूँ तो क्या होगा |

पिता हैं सफाई कर्मी , बेटी ने निकाली IIT-JEE की परीक्षा |

क्या ऋचा चड्ढा और अली फजल करने जा रहे शादी? इस वजह से तेज हुई चर्चा |

3 महीने जेल की सजा याद कर रो पड़े राजपाल यादव, किया ये खुलासा |

इस कपल ने अपनी शादी में गेस्ट के तौर पर बुलाया 500 जानवर, हुई तारीफ़ |

Leave a comment

Your email address will not be published.