कभी चप्पल तक खरीदने के नहीं थे पैसे, आज 3,861 करोड़ के मालिक
/

कभी चप्पल तक खरीदने के नहीं थे पैसे, आज हैं 3,861 करोड़ की संपत्ति के मालिक

इंसान जब अपनी मेहनत के बल पर सफलता की सीढ़ी चढ़ता है तो वो सफलता कभी उसके सिर पर नहीं चढ़ती और हमेशा आम ही रहता है। आपने ऐसा कभी नहीं सुना होगा कि एक बिज़नेसमैन जो अरबों रूपये का मालिक हो, लेकिन उसके पास अपनी खुद की एक भी कार न हो। आज हम ऐसे इंसान के बारें में बताने जा रहे हैं, जो तमिलनाडु के रहने वाले वेलुमणि हैं, जो आज 3861 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं, लेकिन आज भी वो एक आम जिन्दगी जीते हैं। उनके पास कोई भी कार नहीं है और वो अब एक छोटे से घर में ही रहते हैं। वो अब भी ख़ास नहीं हुए हैं और आज भी वो आम ही हैं।

कई कंपनियों ने नौकरी देने से मना कर दिया

कभी चप्पल तक खरीदने के नहीं थे पैसे, आज हैं 3,861 करोड़ की संपत्ति के मालिक

आपको बता दें कि वेलुमणि के बारे में कहा जाता है कि कई कंपनियों ने इन्हें नौकरी देने से मना कर दिया था, क्योंकि वो फ्रेशर थे। इसके बाद वेलुमणि ने अपनी मेहनत के बल पर करोड़ों रूपये की कंपनी खड़ी की। वेलुमणि एक भूमिहीन किसान के घर पैदा हुए लेकिन कई परेशानियों को सहन करते हुए उन्होनें उन परेशानियों को अपने लक्ष्य के आड़े नहीं आने दिया। सबसे बड़ी बात यह है कि वो एक फ्रेशर की दिक्कतों को समझते हैं, इसलिए अपनी कंपनी की हर पोस्ट पर फ्रेशर को जरूर नियुक्त करते हैं।

एक जोड़ी चप्पल खरीदने तक का नही था पैसा

कभी चप्पल तक खरीदने के नहीं थे पैसे, आज हैं 3,861 करोड़ की संपत्ति के मालिक

वेलुमणि का जन्म तमिलनाडु के पुदुर गांव में एक ऐसे किसान के घर हुआ था जिनके पास अपनी जमीन तक नहीं थी। उनकी आरम्भिक पढाई भी गांव के ही एक सरकारी स्कूल में हुई थी। उस वक्त उनके पास इतने भी पैसे नहीं हुआ करते थे कि वो अपने लिए एक जोड़ी चप्पल तक खरीद सकें। वेलुमणि ने एक मीडिया चैनल को दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि वो 10 पायदान वाले एक पिरामिड के सबसे निचले पायदान पर पैदा हुए लेकिन आज वो उसे पिरामिड के शिखर पर हैं, लेकिन ये सब करना आसान नहीं था। साल 1996 में वेलुमणि ने डायग्नोस्टिक लैब चेन थायरोकेयर टेक्नोलॉजीज की शुरुआत की, जिसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा।

वेलुमणि के पास कंपनी में 64 फीसदी शेयर हैं

कभी चप्पल तक खरीदने के नहीं थे पैसे, आज हैं 3,861 करोड़ की संपत्ति के मालिक

थायरोकेयर का मार्केट 3861 करोड़ रुपए का मार्केट शेयर है। वेलुमणि के पास कंपनी में 64 फीसदी शेयर हैं जो उन्‍हें करीब 32.2 करोड़ डॉलर का मालिक बनाता है। आज वेलुमणि अपार संपत्ति के मालिक हैं लेकिन फिर भी वो एक आम आदमी की तरह ही ज़िंदगी जीते हैं और यही बात उन्हें बाकियों से अलग बनाती है।

 

 

 

 

ये भी पढ़े:

गौतम किचलू से शादी के लिए काजल अग्रवाल ने रखी थी ये अनोखी शर्त |

बिगबॉस कंटेस्टेंट राहुल वैध करने जा रहे इस खूबसूरत लड़की से शादी |

गांव के निवासियों  के हाथ लगा कुबेर का खजाना, जमीन से निकलने लगे चांदी के सिक्के |

कोरोना में गई नौकरी तो यूनिफार्म पहनकर खाना बेचने लगा पायलट |

शाहरुख खान अब डॉन 3 में आयेंगे नजर, किंग खान ने खुद बताई सच्चाई |