डिप्टी एसपी समेत आठ पुलिस कर्मी शहीद होने के बाद फूटा योगी आदित्यनाथ का गुस्सा

डिप्टी एसपी समेत आठ पुलिस कर्मी शहीद होने के बाद फूटा योगी आदित्यनाथ का गुस्सा, उठाया ये कदम

उत्तरप्रदेश कानपुर के चौबेपुर थानाक्षेत्र में बिकरू गांव निवासी शातिर अपराधी एवं हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के घर गुरुवार देर रात पुलिस दबिश देने गई थी। दबिश के दौरान विकास दुबे और उसके साथियों ने पुलिस पर अधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। गोलियों की तड़तड़ाहड़ से पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गया।

बदमाशों से लोहा लेते हुए पुलिस के जाबांज अफसर डिप्टी एसपी बिल्हौर देवेंद्र कुमार मिश्र समेत आठ पुलिस कर्मी शहीद हो गए। वहीं, गोली लगने से सात पुलिस कर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए। जिन्हें रिजेंसी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सूचना पर एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार, एडीजी कानपुर, आइजी और एसएसपी समेत आलाअफसर मौके पर पहुंचे। फोरेंसिंक टीम बुलाई गई। पुलिस ने पड़ताल शुरू की। उधर,उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद पुलिस कर्मियों को भावभीनी श्रद्धांजलि दी है। इसके साथ ही डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी को बदमाशों के खिलाफ कड़ी कार्यवाई करने के निर्देश दिए हैं।

सर्च ऑपरेशन जारी

डीजीपी एचसी अवस्थी ने कहा कि हत्या के प्रयास मामले में दबिश देने गई टीम पर घात लगाकर फायरिंग कर दी। बदमाशों की फायरिंग में डिप्टी एसपी समेत आठ पुलिस कर्मी शहीद हो गए। जिले के सभी बार्डर सील कर दिए गए हैं। बदमाशों की तलाश में दबिश दी जा रही है। एसटीएफ समेत कई टीमें बदमाशों को पकड़ने के लिए लगाई गई हैं। सर्च ऑपरेशन जारी है।

सीएम योगी ने सख्त कार्रवाई कर रिपोर्ट की तलब

मुख्यमंत्री योगी ने डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी को इस दुर्दांत घटना को अंजाम देने वाले अपराधियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही करने तथा तत्काल मौके की रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। बता दें 2/3 जुलाई, 2020 की रात ग्राम बिकरू, थाना चौबेपुर, जनपद कानपुर नगर में गांव के ही एक व्यक्ति की शिकायत पर एक शातिर अपराधी विकास दुबे को पकड़ने गई कानपुर पुलिस टीम पर अकस्मात उक्त अपराधी और उसके साथियों ने छत से फायर कर दिया. इसमें एक डिप्टी एसपी, 3 सब इंस्पेक्टर एवं 4 कांस्टेबल मौके पर शहीद हो गए हैं।

शातिर अपराधी है विकास दुबे

पुलिस ने बताया कि विकास दुबे खूंखार अपराधी है, जिस पर 2003 में शिवली थाने में घुसकर तत्कालीन श्रम संविदा बोर्ड के चेयरमैन राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त भाजपा नेता संतोष शुक्ला की हत्या का आरोप लगा था। बाद में वह इस केस से बरी हो गया था। इसके अलावा विकास पर प्रदेश भर में दो दर्जन से ज्यादा गंभीर मुकदमें दर्ज हैं।

मुठभेड़ में शहीद हुए पुलिसकर्मियों के नाम

1- देवेंद्र कुमार मिश्र, सीओ बिल्हौर
2- महेश यादव, एसओ शिवराजपुर
3- अनूप कुमार, चौकी इंचार्ज मंधना
4- नेबूलाल, सब इंस्पेक्टर शिवराजपुर
5- सुल्तान सिंह, कांस्टेबल थाना चौबेपुर
6- राहुल, कांस्टेबल बिठूर
7- जितेंद्र, कांस्टेबल बिठूर
8- बबलू, कांस्टेबल बिठूर

मुठभेड़ में घायल पुलिसकर्मियों के नाम

1- कौशलेंद्र प्रताप सिंह, एसओ बिठूर
2- अजय सिंह सेंगर, सिपाही बिठूर
3- अजय कश्यप, सिपाही शिवराजपुर
4- होमगार्ड जयराम पटेल
5- एसआई सुधाकर पांडे, चौबेपुर
6- शिव मूरत, सिपाही बिठूर
7- विकास बाबू, प्राइवेट व्यक्ति,चौबेपुर

 

 

 

Hindnow Trending : लद्दाख पहुंच गए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी | प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लद्दाख पहुंचना कांग्रेस 
को नहीं आया पसंद | अखिलेश यादव के संसदीय क्षेत्र के सपा नेता ने खून से लिखी चिट्ठी | पढ़ाई के मामले 
में काफी फिसड्डी हैं ये बॉलीवुड अभिनेत्रियाँ | चपरासी की नौकरी कर भरे फ़ीस के पैसे |