गैंगेस्टर विकास दुबे और पुलिस के मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मी शहीद, 2 अपराधी मारे गये

UP: गैंगेस्टर विकास दुबे और पुलिस के मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मी शहीद, 2 अपराधी मारे गये

यूपी के कानपुर में मिली सूचना के अनुसार 2 जुलाई की रात उत्तर प्रदेश के कानपुर में पुलिस ने एक कुख्यात अपराधी विकास दुबे को पकड़ने गयी। जहां बदमाशों ने पुलिस पर ताबड़तोड़ फायरिंग करना शुरू कर दी। वहीं इस फायरिंग में जब तक पुलिस संभलती तब तक पुलिस के एक डीएसपी समेत आठ पुलिस कर्मी की मौत हो गयी थी। और कई पुलिस कर्मी घायल हो गए।

एक जानकारी के अनुसार 2 जुलाई को रात में कानपुर के बिठूर थाना क्षेत्र के विकारु गाँव में पुलिस गैंगेस्टर विकास दुबे को पकड़ने गयी थी। पुलिस पर धोखे से फायरिंग की गई जब तक पुलिस घेराबंदी करती तब तक अंधेरे में छत से उन पर फायरिंग करना शुरू कर दी गयी। जिसमे कई पुलिस कर्मी को गोली लग गयीं।

STF किया गया है तैनात

उन्होंने कहा कि एसटीएफ को तैनात कर दिया गया है, ऐसे बड़े स्तर से ऑपरेशन चलाया जा रहा है। यह ऑपरेशन उसी की कड़ी है, जिसमे पुलिस ने विकास दुबे को पकड़ने गयी थी। जहा अंधेरे का फायदा उठाकर पुलिस पर बदमाश ने फायरिंग करना शुरू कर दी।

इस मुठभेड़ में विल्हौर के सीओ वेद कुमार मिश्र, शिवराज पुर के एस ओ महेश यादव, मंथना के चौकी इंचार्ज अनूप कुमार, सब इंस्पेक्टर नेबू लाल,बिठूर थाना के राहुल , जितेंद्र, बबलू तथा चौबेपुर थाना क्षेत्र के सिपाही सुल्तान सिंह शहीद हो गए।

कौन है विकास दुबे?

ये एक कुख्यात अपराधी है। इसके ऊपर 50 से अधिक मामले दर्ज हैं। राज्यमंत्री दर्जा प्राप्त की हत्या का भी आरोप है। थाने में पुलिसकर्मियों को मारने का आरोप है। विकास दुबे ग्राम प्रधान और जिला पंचायत सदस्य भी रह चुका है। वहीं पुलिस ने 2 अपराधियों को मार गिराया ।

 

 

 

HindNow Trending : कौन है विकास दुबे जिसने थाने में घुसकर की थी राज्यमंत्री संतोष शुक्ल की हत्या |
 8 पुलिसकर्मीयों के शहादत पर भड़की कांग्रेस | कानपुर एनकाउंटर: शहीद पुलिस राहुल  कुमार की मात्र 1 
साल की है बेटी | शहीदों को श्रद्धांजलि देने अस्पताल पहुंचे योगी आदित्यनाथ | 8 पुलिसकर्मियों के शहीद होने 
पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संभाली कमान | विकास दुबे का बड़ा बेटा लन्दन में कर रहा MBBS, छोटा 
कानपुर में 12वीं का छात्र | शातिर अपराधी विकास की माँ ने कहा उसे अब मर जाना चाहिए